ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज: कहते हैं कि अगर मन में कुछ करने की इच्छा हो तो हर वह अच्छा काम आदमी कर सकता है। ऐसा ही एक मामला हरियाणा पुलिस के जवान ने कर दिखाया है। जो कूड़ा बीनने वाले और रेड लाइटों पर भीख मांगने वाले बच्चे को अपने खर्चे पर पढ़ाने का काम कर रहा है। हरियाणा पुलिस के इस जवान की ड्यूटी ऐसे बच्चों का रेस्क्यू करने पर लगी हुई है जो बच्चे छोटी उम्र में कूड़ा और भीख मांगते नजर आते हैं। लेकिन इस जवान ने उन बच्चों को ना केवल रेस्क्यू करके मुख्यधारा में जोड़ने के लिए अपने खर्चे पर उनको शिक्षा दिलवा रहे हैं।
सेक्टर 25 के पार्क का जहां पर स्टेट क्राइम ब्रांच में एएसआई के पद पर तैनात अमर सिंह खुद इन बच्चों को पढ़ाने का काम कर रहे हैं। साथ ही एक टीचर भी उन्होंने अपने खर्चे पर रखा हुआ है जो इन बच्चों को 2:00 बजे से लेकर 5:00 बजे तक पढ़ाता है। असल में झुग्गियों में रहने वाले लोगों के बच्चे कई बार सिग्नल पर भीख मांगते हुए मिलते हैं और स्टेट क्राइम ब्रांच की तरफ से लगातार बाल मजदूरी को लेकर रेस्क्यू किया जाता है।
अमर सिंह का कहना है कि कई बार उन्होंने इनके माता-पिता के खिलाफ भी मामला दर्ज कराया है लेकिन उसके बावजूद भी बच्चे दोबारा से उसी काम पर जुड़़ जाते हैं। उन्होंने इन बच्चों को प्रोत्साहित किया और इनके लिए अलग से पढ़ाई का बंदोबस्त करते हुए बच्चों के लिए पार्क में क्लास लगाई है ताकि इन बच्चों को शिक्षा मिले और यह मुख्यधारा में जुड़ जाएं।

LEAVE A REPLY