ऑनलाइन डेस्क / लिविंग इंडिया न्यूज़: – दिल्ली में इन दिनों चुनाव का माहौल जोरों पर है। इस बीच, सभी दल मतदाताओं को लुभाने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। इसी तरह, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी एक बड़ी घोषणा की है। गुरुवार को आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान, केजरीवाल ने कहा, “मेरी पार्टी और खुद पर, एक फरवरी को जारी होने वाले केंद्रीय बजट को वापस लेने के लिए पार्टी के बाहरी लोगों का दबाव है, लेकिन वे इस बजट का विरोध नहीं करेंगे। केजरीवाल के मुताबिक, दिल्ली का विकास चुनाव के दिनों में भी नहीं रुकना चाहिए।

केंद्र सरकार से अपील

इस बीच, केजरीवाल ने केंद्र सरकार से अपील करते हुए कहा कि केंद्र सरकार को फरवरी 2020 के इस बजट के दौरान दिल्ली के लिए अधिकतम धनराशि जारी करनी चाहिए और अधिकतम की घोषणा करनी चाहिए। केजरीवाल ने दिल्ली की समस्याओं, जैसे कि सीवरेज, परिवहन, प्रदूषण और यमुना की ओर इशारा करते हुए केंद्र और मीडिया की ओर इशारा किया। चाहे वह आम आदमी पार्टी हो या कोई अन्य पार्टी, दिल्ली के सभी लोगों को इन समस्याओं पर ध्यान देने की जरूरत है। केजरीवाल ने कहा, “अब जब चुनाव सिर पर हैं, हर पार्टी इन समस्याओं को हल करने का वादा कर रही है, लेकिन केंद्र सरकार का यह भी कर्तव्य है कि वह इसके लिए अधिकतम धनराशि जारी करे।”

स्ट्रॉ टूल का उल्लेख

केजरीवाल ने अपने संबोधन में केंद्र सरकार से पुआल-पराली जलाने के मुद्दे पर अपील करते हुए कहा कि केंद्र सरकार को धान की पराली जलाने से रोकने के लिए पंजाब और हरियाणा राज्यों को भी फंड जारी करना चाहिए ताकि दिल्लीवासियों को धुएं से छुटकारा मिल सके। प्रदूषण के स्तर को कम करें।

निगम के लिए फंड भी जारी किया जाना है

इस बीच केजरीवाल ने केंद्र सरकार से दिल्ली में नगर निगम के लिए धन मुहैया कराने का अनुरोध किया है। केजरीवाल के मुताबिक, बेशक दिल्ली में निगम भाजपा का है और दिल्ली में सरकार का पता नहीं है।किस पार्टी की सरकार बननी है लेकिन भाजपा भी केंद्र में है, इसलिए सरकार को दिल्ली के बेहतर विकास के लिए नगर निगमों को धन देने की घोषणा करनी चाहिए।

डैमेज कंट्रोल करने में लगी AAP

वहीं दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर अपने मौजूदा 61 में से 15 विधायकों का टिकट काट दिया है। जिसके बाद कुछ विधायकों के बागी तेवर दिखाने के बाद पार्टी डैमेज कंट्रोल करने में जुट गई है। इस दौरान आम आदमी पार्टी की ओर से कहा गया है कि जिन विधायकों के टिकट कटे हैं उन्हें भविष्य में आगे बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है। वहीं सीएम केजरीवाल ने सभी विधायकों के पार्टी के साथ रहने की उम्मीद जताई है।

राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने किया दावा

आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि, सरकार बनने के बाद इन सभी नेताओं की  भूमिका तय की जाएगी। अरविंद केजरीवाल ने इन 15 विधायकों के दूसरी पार्टियों के संपर्क में होने के दावे को भी नकारा है।

टिकट कटने से नाराज विधायक नारायण दत्त

हालांकि कुछ विधायक ऐसे भी बताए जा रहै हैं जो टिकट काटने से नाराज हैं।और पार्टी के खिलाफ खुली बगावत पर उतर आए हैं। तो वहीं बदरपुर के विधायक नारायण दत्त ने केजरीवाल पर पैसे के बदले टिकट बेचने का आरोप लगाया इस बार पार्टी ने नारायण दत्त की जगह राम सिंह नेता को टिकट दिया है। तो दूसरी तरफ सीलमपुर के विधायक इशराक खान ने भी टिकट काटे जाने पर बागी तेवर अपनाए हैं।

13757 पोलिंग बूथों पर होगी वोटिंग

बतादें कि राजधानी दिल्ली में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज गया है। जिसके तहत 8 फरवरी को मतदान होगा और 11 फरवरी को नतीजे आएंगे। इससे पहले जानकारी देते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि चुनाव सिंगल फेज में होगा।  नॉमिनेशन की आखिरी तारीख 21 जनवरी होगी। नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख 24 जनवरी रखी गई है।

 

 

 

LEAVE A REPLY