ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज:- अयोध्या विवादित केस पर चीफ जस्टिस CJI रंजन गोगोई ने बुधवार को डेडलाइन तय कर दी है। उन्होंने कहा है की इस मामले की अंतिम सुनवाई बुधवार शाम 5 बजे तक होगी। इसके बाद अयोध्या मामले पर किसी भी तरह की कोई टिप्पणी नहीं की जाएगी । अयोध्या मामले की रोजाना सुनवाई का सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को 40वां दिन है और इसी दिन अंतिम सुनवाई का भी फैसला किया गया है।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने स्पष्ट तौर से कह दिया है कि, बुधवार शाम 5 बजे के बाद अयोध्या मामले पर किसी भी तरह की बहसबाजी को नहीं सुना जायेगा।  बुधवार शुरू हुई सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई में दोनों पक्षों के वकीलों ने अपना -अपना लिखित बयान पेश कर दिया है। अब देखना यह होगा की शाम 5 बजे अदालत का क्या  अंतिम फैसला होगा।

सुन्नी वक्फ बोर्ड का फैसला

इतने विवादों के बीच सुन्नी वक्फ बोर्ड ने अयोध्या मामले की विवादित जमीन पर अपना कब्ज़ा छोड़ने का फैसला अदालत में पेश किया है। 40  वे दिन की सुनवाई में सुन्नी वक्फ बोर्ड के चेयरमैन ने अयोध्या मामले पर अपना हलफनामा वापस लेने की याचिका पेश की है पर इस पर अभी तक किसी भी तरह की कोई मुद्दा अदालत में नहीं उठाया गया है।

अंतिम फैसला

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों के वकीलों से बुधवार को अपनी अंतिम दलीलें पेश करने के लिए मंगलवार को ही कह दिया था।  साथ ही अंतिम डेडलाइन भी बताई थी, जिस आधार पर बुधवार को दोनों पक्षों को अपनी -अपनी दलीलें पेश करने के लिए नियमित समय दिया जाना है। सुप्रीम कोर्ट की मामले पर सख्ती बयान कर रही है की  अयोध्या मामला जल्द ही नया रुख लेगा।

खत्म होगी इंतज़ार की घड़ी

1992 से चले आ रहे अयोध्या विवाद पर जल्द ही सुप्रीम कोर्ट का फैसला सुनाया जा सकता है। बता दें कि अयोध्या मामले से सभी देशवासियों की आस्था जुड़ी हुई है। ऐसे में जनता के इंतज़ार की घडी क्या रुख लेती है, ये देखना दिलचस्प होगा।

LEAVE A REPLY