ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट से जमानत मिलने के बाद लगातार CAA और NRC के खिलाफ सड़कों पर उतर रहे हैं।  जिसके तहत चंद्रशेखर दिल्ली की जामा मस्जिद पहुंचे और समर्थकों के साथ नागरिकता संशोधन कानून यानी CAA एक्ट का विरोध किया। बतादें कि,कोर्ट के आदेश के मुताबिक आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद को 24 घंटे के अंदर दिल्ली से बाहर जाना होगा।

तिहाड़ जेल में बंद थे चंद्रशेखर आजाद 

बता दें कि  CAA और NRC के खिलाफ प्रदर्शन करने के दौरान दिल्ली पुलिस ने चंद्रशेखर आजाद को गिरफ्तार कर लिया था। जिसके बाद चंद्रशेखर काफी दिनों से तिहाड़ जेल में बंद थे, गुरुवार को ही तीस हजारी कोर्ट ने उन्हें ज़मानत दी थी जिसके बाद आजाद यहा पहुंचे और CAA और NRC का विरोध किया। जमानत देते हुए कोर्ट ने कहा कि, कि वह किसी प्रदर्शन का हिस्सा नहीं बनेंगे और चार हफ्ते तक दिल्ली से बाहर ही रहेंगे, साथ ही उन्हें  हर शनिवार को सहारनपुर SHO के सामने हाजिरी लगानी होगी।

 सरकार ने दिए थे सुझाव के संकेत

इससे पहले संशोधित नागरिकता कानून और एनआरसी के खिलाफ  उत्तर प्रदेश में हिंसक प्रदर्शनों के दौरान पुलिस के साथ झड़प में कम से कम छह लोगों की मौत हो गयी थी ।वहीं  राजधानी में भी हजारों लोगों ने रैलियां निकालीं और  हिंसक प्रदर्शन किया। जिसके बाद पुलिस को भी विरोध रोकने के लिए लाठी चार्ज करना पड़ा था। जिसके बाद मोदी  सरकार ने ये संकेत दिया था कि, सरकार इस मामले में सुझावों पर विचार करने को तैयार है। हालांकि दिल्ली में कुछ लोगों ने पुलिस को गुलाब का फूल भेंट कर शांति का संदेश दिया था,वहीं कर्नाटक के मंगलुरू में भी पुलिस गोलीबारी में दो लोगों की मौत हो गयी थी,वहीं लखनऊ में एक व्यक्ति की मौत हुई थी। इन घटनाओं में 50 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए थे।

 

LEAVE A REPLY