ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज:कोरोना वायरस के खतरे की बीच एयर इंडिया का विमान 323 भारतीय को लेकर स्वदेश लौट आया हैं, साथ ही मालदीव के 7 नागरिकों को भी दिल्ली लाया गया है, इस विमान ने रात 3.10 बजे वुहान से नई दिल्ली के लिए उड़ान भरी थी, वहीं मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने पीएम मोदी और विदेश मंत्री एस. जयशंकर का आभार व्यक्त किया और कहा कि, वुहान से लौट रहे 7 लोगों को नई दिल्ली में निगरानी में रखा जाएगा। चीन से लौटे इस जत्थे के साथ ही भारत के 647 नागरिक अब तक नई दिल्ली वापस पहुंच तुके हैं।

शनिवार को आई पहली फ्लाइट में थे 424 भारतीय

बतादें कि, कल यानी शनिवार को भी एयर इंडिया का डबल डेकर जंबो 747 विमान वुहान में फंसे 424 भारतीय लोगों को लेकर भारत पहुंचा था। इस विमान में दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल के 5 डॉक्टरों की टीम भी मौजूद थी। साथ ही विमान में पैरा मेडिकल स्टाफ भी मौजूद था। इंजीनियर्स और सुरक्षा अधिकारियों की एक टीम भी इस फ्लाइट में थी।

वुहान में करीब 700 भारतीय रहते हैं

चीन की राजधानी वुहान में करीब 700 भारतीय रहते हैं। इन लोगों में ज्यादार मेडिकल छात्र और रिसर्च स्कॉलर के छात्र हैं जो यहां पर अध्ययन करते हैं। इससे पहले भी नव वर्ष और बसंत त्यौहार की छुट्टियों के कारण कई भारतीय पहले से ही भारत आ चुके हैं।

दिल्ली और हरियाणा में रुकेंगे यात्री

भारत सरकार की तरफ से चीन से आए 647 छात्रों और अन्य भारतीयों को दिल्ली के छावला और हरियाणा के मानेसर कैंप में ठहराने का इंतजाम किया है। इस बीच भारतीय नागरिकों को कम से कम 2 सप्ताह तक अलग रहना होगा। जांच के लिए सभी भारतीय को भारत-तिब्बत सीमा पुलिस की बिल्डिंग और इंडियन आर्म फोर्स मेडिकल सर्विसेज के भवन में रखा जाएगा।

एयरपोर्ट पर बनाया गया स्क्रीनिंग कैंप

फिलहाल एयरपोर्ट पर यात्रियों की स्क्रीनिंग के लिए स्क्रीनिंग कैंप बनाया गया है।जहां पर चीन से लौटे यात्रियों की स्क्रीनिंग की जाएगी। इस दौरान चीन से लौटे सभी लोगों को अपने परिवार सहित किसी भी अन्य व्यक्ति से मिलने नहीं दिया जाएगा।

चीन में 305 लोगों की मौत

बतादें कि, कोरोना वायरस से अब तक चीन में 305 लोगों की मौत हो चुकी है,जबकि 12.000 से ज्यादा लोग इसकी चपेट में है।

 

 

LEAVE A REPLY