ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज:- भारतीय वायुसेना के 2 जून से लापता हुए विमान ए-एन-32 के अरुणाचल प्रदेश के पहाड़ी जंगल में मालवा देखा गया है | इस खबर की जानकारी मिलने के बाद पायलट आशीष तंवर के परिजनों ने थोड़ी चैन की सांस ली है | विमान में आशीष समेत 13 लोग थे सवार थे | लेकिन विमान में सवार सभी 13 लोगों का अब तक कोई पता नहीं चल पाया है। विमान में सवार पलवल के पायलट के परिजनों को उम्मीद है की उनका बेटा सुरक्षित वापस आएगा |

AN 3-32 Aircraft

जब भारतीय वायुसेना के विमान ए एन -32 ने जोरहाट से मेंचुला के लिए उड़न भरी थी लेकिन 27 मिनट बाद ही विमान गायब ही हो गया | जिसके बाद विमान को ढूंढ़ने के लिए सेनाओं द्वारा सर्च ऑपरेशन चलाया गया | बता दे सर्च ओप्रेशन के समय सेना की एक टुकड़ी को बारह हजार फीट की ऊंचाई पर विमान को सुरक्षित देखे जाने के संकेत मिले हैं | उनका मानना है कि विमान का इंधन समाप्त हो गया होगा जिसके कारण उसकी आपात लेंडिग करी गई होगी | जिसकी जानकारी पायलट आशीष के परिजनों को दी गयी है | ये खबर सुनते ही आशीष के परजनों के कलेजे को ठंडक पहुंची है |

AN-32 Aircraft

आशीष के परिजनों का कहना है कि न केवल आशीष बल्कि सभी अन्य लोग भी सुरक्षित लौटकर घर वापस आयें | वो भी देश के जवान है | दरअसल परिजनों को विमान के बारे बताया गया है कि विमान को लाने के लिए पांच विमान इंधन लेकर उस स्थान की और गये है जहां पर विमान ए एन -32 देखा गया है | खबर के मुताबिक वहां पर ऊंचाई बहुत अधिक होने के कारण कोई भी सिग्नल काम नही कर पाने के कारण किसी से संपर्क नहीं हुआ होगा |

AN-32 Aircraft

परिवार के लोगों ने सरकार पर भी लापरवाही और संवेदनहीन होने के आरोप लगाये हैं | उनका कहना है कि पायलट अभिनन्दन के मामले में तो सरकार ने एकदम सटीक कार्रवाई की थी | लेकिन इस मामले में आज तक भी किसी की और से कोई प्रतिक्रियां नही दी गई है |

AN-32 Aircraft

 

 

LEAVE A REPLY