ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज: 31 मई को तंबाकू जैसे नशे से दूर रहने के लिए इस दिवस को संकल्प के रूप में मनाया जाता है। 1987 में विश्व स्वास्थ्य संगठन के सदस्य देशों ने तंबाकू महामारी, इसके रोकथाम और इससे होने वाली मौत और बीमारियों के कारण वैश्विक तौर पर ध्यान आकर्षित करने के लिए विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाने का फैसला किया।

भारत में भी इस दिवस को संकल्प के रूप में मनाया जाता है ताकि युवाओं को नशे से होने वाली बीमारियों के प्रति सचेत किया जाए।

tobacco day

 मौत का कारण है तंबाकू !

विश्व में हर 6 सेकेंड में तंबाकू की वजह से होती है एक मौत

भारत में प्रति घंटे 137 लोग तंबाकू सेवन से मरते हैं।

शरीर के अंगों को सीधे नुकसान पहुंचाता है तंबाकू

धुंआ रहित तंबाकू से हार्ट अटैक होने का खतरा बढ़ जाता है

धुम्रपान से फेफड़े का कैंसर होता है।

तंबाकू चबाने से मुंह का कैंसर आम है।

1 सिगरेट जिंदगी के 11 मिनट खत्म कर देती है

पूरा पैकेट सिगरेट तीन घंटे चालीस मिनट उम्र कम कर देती है

tobacco daybacco

LEAVE A REPLY