ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज:- पंजाब की 13 लोकसभा सीटों को जीतने के लिए यहां मैदान में उतरे दिग्गजों के जमावड़े से ये कहा जा सकता है कि, पंजाब में रैलियों को समर है | चुनावी जनसभाओं से लेकर रोड शो | नुक्कड़ सभाओं से लेकर डोर-टू-डोर प्रचार | जीत के लिए हर एक दल पूरा दमखम लगाते नजर आ रहा है |

ये सियासी रैलियां, रैलियों में उमड़ा हुजूम, हर तरफ रैलियों का शोर | मालवा हो, दोआबा हो या फिर पंजाब का माझा इलाका | इस वक्त हर तरफ मई के इस गर्म तापामान के बीच, सियासी पारा भी लगातार उफान पर है | जीत के लिए हर एक दल ने एड़ी चोटी का जोर लगा रखा है | पंजाब की सियासत का दिल्ली में सरकार बनाने के लिए एक खास योगदान रहता है |

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए अभी तक छह चरण के लिए मतदान हो चुके हैं और अब 19 मई को सातवें चरण के लिए 8 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान होगा | नजर सबकी पंजाब की 13 लोकसभा सीटों पर है | जहां 2014 के चुनाव में पंजाब ने देश के चुनावी रुझान से इतर जाने की अपी छवि को कायम रखा | लिहाजा अबकी बार पंजाब की इन 13सीटों पर हो रहे दंगल को जीतने के लिए पार्टी हाईकमान भी पसीना बहाते नजर आ रहे हैं | बेश्क वो शिरोमणि अकाली दल-बीजेपी गठबंधन हो, कांग्रेस हो या फिर आम आदमी पार्टी | तीनों ही दल के बड़े बड़े सियासी सूरमा जीत के लिए बढ़ते तापमान के बीच सियासी अखाड़े में पसीना बहा रहे हैं |

कहीं रोड शो हो रहा है, तो कहीं रैलियों के जरिये अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया जा रहा है | इन सबके बीच हर एक दल के नेता अपनी अपनी जीत की भी दावेदारी ठोकते नजर आ रहे हैं |

कल चुनाव प्रचार का आखिरी दिन है | सातवें चरण के लिए शुक्रवार शाम 5 बजे चुनाव प्रचार थम जायेगा, औऱ फिर 19 को पंजाब की जनता 13 सीटों के दंगल में उतरे उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेगी | जिसके नतीजे 23 मई को सभी लोकसभा सीटों के साथ ऐलान किये जायेंगे |

Watch Video

LEAVE A REPLY