ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज: पंजाब में नशे के खिलाफ कई मुहीम चलाई जाती है लेकिन ये कितना कारगार साबित होता है वो हम आये दिन युवकों की होने वाली मौतों से अंदाजा लगा जा सकते हैं | लोगों के मन में आज भी ये डर है कि कही उनके बेटे या परिजन भी इस चपेट में ना आ जायें | माहौल ये है कि नई पीढ़ी के युवक नशे के इतने आदी हो जाते हैं कि वो धीरे धीरे नशे के डोज को बढ़ाना शुरू कर देते है और उसी वक्त होती है कोई अनहोनी ये मामला भी कुछ यही बयान करता है |

हमारे देश में ज्यादातर नौजवान नशे के आदी है | आज नशे को लेकर कई तरह के अभियान भी चलाये जा रहे हैं | लेकिन फिर भी इस नई पीढ़ी के युवकों को नशे से दूर करने में सफल साबित नहीं हो पा रहा है | जिसके चलते आये दिन नशे की ओवर डोज के चलते युवकों की मौत की खबर सुनने को मिलते रहती है | जी हां अब एक मामला मानसा के गांव मलिकपुर ख्याला से समाने आया है जहां एक 21 साल के युवक की नशे के ओवर डोज के चलते मौत हो गई | बता दें कि मृतक युवक अपने घर का इकलौता चिराग था जो अपनी गलत आदतों के चलते मौत की नींद सो गया | मृतक युवक के पिता की भी पहले ही मौत हो चुकी है | मृतक हरप्रीत सिंह ने अपने खेत में ही चिट्टे का इंजेक्शन लगा लिया जिससे उसकी मौत हो गई |

अब युवक की मौत के बाद गांव वालों ने पंजाब सरकार से इन नशा तस्करों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है जिससे कोई और युवक इसकी चपेट में ना आ जाये साथ ही ग्रामीणों का ये भी कहना है कि युवक नशे के आदी तभी होते हैं जब वो बेरोजगार घर पर बैठे होते हैं | सरकार से उन्होंने बेरोजगारी को दूर करने की भी बात कही है | उनका कहना है कि पंजाब में सरकार नशे को रोकने के बड़े बड़े दावे करती है लेकिन फिर भी क्या कारण है कि अब तक नशा पर रोक लगाना सरकार के लिये नामुमकिन साबित हो रहा है | इस पर सरकार को कुछ करना चाहिये वरना देखते ही देखते पंजाब के युवा इसकी चपेट में आ जायेंगे और सरकार भी कुछ नहीं कर पायेगी |

फिलहाल पुलिस ने मृतक युवक के शव को लेकर पोस्टमार्टम के लिये भएज आगे की कार्रवाई कर रही है | लेकिन अब उस परिवार को गहरा सदमा लगा है जिसका इकलौता जिराग जो कि इनका सहारा बनने वाला था अब अब हमेशा के लिये मौत की नींद सो गया |

Watch Video

LEAVE A REPLY