ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज: एक महिला की 18 महीने पहले मौत हुई थी | लेकिन अब मृतका के परिजनों को शक है कि उसकी मौत नहीं बल्कि हत्या की गई थी और परिजनों ने इस मामले को उच्च न्यायलय तक पहुंचाया और उसके बाद जो उच्च न्यायलय ने आदेश दिया वो सराहनीय है क्या है पूरा मामला वो देखिये इस रिपोर्ट में |

18 साल पहले हुई एक महिला की मौत एक बार फिर से लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गया है | जी हां मेवात में एक जैतूनी नाम की महिला की मौत पिछले साल अप्रैल में हुई थी | जिसे परिजनों ने अपनी रीति रिवाज के साथ दफनाया गया | लेकिन मृतका के परिजनों को शक था कि उसकी मौत नहीं बल्कि हत्या की गई थी और इस बात को लेकर उन्होंने थाने में शिकायत भी दर्ज कराई | पुलिस को शिकायत मिलने के बाद ये मामला कोर्ट तक पहुंचा जहां उच्च न्यायालय ने पुलिस को ये आदेश दिया कि मृतका के शव को कब्र से निकाला जाए और उसकी जांच कराई जाए की उसकी मौत हुई है यै फिर किसी ने उसकी हत्या की थी | उच्च न्यायालय से आदेश मिलने के बाद भारी पुलिस बल की तैनाती में महिला के कब्र को खुदवाया गया जहां से उन्हें मृतक जैतूनी का कंकाल मिला | जिसके बाद उसे जांच के लिए भेजा गया |

बताया जा रहा है कि जैतूनी इमामनगर की रहने वाली थी जिसकी शादी लगभग 4 दशक पहले इसब के रहने वाले झिरका के साथ हुई थी | लेकिन शादी के बाद से ही उन दोनों में लड़ाई शुरू हो गई थी जिसके चलते जैतुनी अपने ससुरालवालों के साथ नहीं रहती थी वो अपने मायका में ही रहती थी |  लेकिन पिछले साल अप्रैल महीने में उसकी मौत हो गई | जिसके बाद परिजनों को उसकी मौत पर शक था और परिजनों ने इस मामलें को उच्च न्यायालय चण्डीगढ़ में पहुंचाया |

जिला प्रशासन की ओर से फिरोजपुर झिरका के उप मण्डल अधिकारी प्रशांत अटकान की मौजूदगी में शव को कब्र से निकालकर सामान्य अस्पताल मांडीखेड़ा के शव गृह में पहुंचाया गया | जहां शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद उसे परिजनों के हवाले कर दिया गया | शिकायतकर्ता के मुताबिक जैतूनी उसकी रिश्ते में बुआ लगती थी और उसने आरोप लगाया है कि उसकी पत्नी और उसके प्रेमी ने ही मिलकर उसकी बुआ की हत्या कर दी थी | उस समय सभी को लग रहा था कि उसकी मौत हुई होगी लेकिन बाद में पता चला कि उसकी धर्मपत्नी ने रिश्तों में रोड़ा बन रही उसकी बुआ को मौत के घाट उतार दिया | हलाकि इस बात में कितनी सच्चाई है ये पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा | नगीना थाना प्रबंधक जयबीर सिंह कि माने तो शव को करीब डेढ़ घंटे की मेहनत के बाद बाहर निकाला गया और अब पुलिस भी पोस्टमार्ट रिपोर्ट के इंतजार में है जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी |

मामले में अब तक साफ नहीं हो पाया है कि मृतका की मौत हुई थी या फिर हत्या लेकिन अगर उसकी हत्या हुई होगी तो आरोपी की पहचान जल्द ही हो जाएगी और कानून उसे सजा भी मिलेगी |

Watch Video

LEAVE A REPLY