ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज: कुछ ऐसी ही हालत प्रदेश के दूसरे मंडियों की भी रही फाजिल्का में धान की सरकारी खरीद नहीं हो पाई जबकि धान की फसल मंडी में आई थी | बताया जाता है कि 17% से भी ज्यादा नमी वाला धान था जिसके चलते सरकारी खरीद नहीं हो पाई और इसी एवज में चार आढ़तियों को नोटिस जारी किया गया है |

किसानों और आढ़तियों को हिदायत दी गई है कि मंडियों में किसान 17% से ज्यादा नमी वाला धान न लाया जाए | दूसरी तरफ किसानों ने कहा कि वो धान की फसल को सुखा कर लेकर आए थे फिर भी खरीद नहीं हुई | किसानों ने सरकार के दावों को खोखला बताया | वहीं जालंधर की मंडी में भी पहले दिन धान की सरकारी खरीद शुरू नहीं हो सकी | जितना धान की फ़सल आई खरीद न होने के चलते मंडी में ही पड़ा रही |

Watch Video

LEAVE A REPLY