ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज: पंजाब में नशे के कारण पंजाब की जवानी नशे में ही डुबती हुई नजर आ रही है इस नशे के खिलाफ सरकार के द्वारा किए गए लाखों दावे खोखले नजर आ रहे है। पंजाब सरकार का कहना है कि पंजाब में से नशे की सप्लाई नहीं हो रही है जिस कारण नौजवान नशे की पुर्ति ना होने के कारण उनकी मौत हो रही है।

ludhiana drugs

सरकार के अपने इस बयान के बाद पंजाब सरकार नशे के मामले को लेकर काफी ढीली पड़ती हुई नजर आ रही है। पर पंजाब के नौजवानों को नशे से दुर करना है तो पंजाब के लोगों को ही इस काम में अपना योगदान देना होगा।

Drugs

ऐसा कुछ बठिंडा में हो रहा है। बता दें कि वहां के लोग पंजाब के नौजवान को नशे से दूर करने के लिए गांव वालों ने एक मुहिम छेड़ी है। इस मुहिम के मद्देनजर  गांव वाले नशा तस्कर के खिलाफ सामने आ रहे है। बता दें कि बठिंडा के गांवबीडतालाब में 5 सालों में नशे के कारण 25 से ज्यादा नौजवानों की मौत हो चुकी है। जिस कारण गांव वाले दिन रात गांव में पहरा लगाते है ताकि कोई भी नशा तस्कर उनके गांव में पैर ना रख सकें। इसी के चलते  की नशा तस्करों को पुलिस के हवाले भी कर चुके है।

drugs

सूत्रों से पता चला है कि इसकी पहल  नशे से बदनाम हुआ गांव बाडी, लेलेवाल में भी की गई यहां के गांववासियों ने नशा तस्करों के खिलाफ मुहिम छेड़ी और उनको पुलिस के हवाले भी किया। इसके साथ ही जो नौजवान नशे का आदी हो चुका है उसको नशा मुक्ति केंद्र में दाखिल भी करवाया ताकि उसका इलाज करवा नशे से आजाद किया जा सकें।

moga drugs

कहा जा रहा है कि गांव के हर घर के बाहर नशे मुक्ति केंद्र का बोर्ड लगा हुआ है। गौरतलब है कि नशे के कारण पंजाब के नौजवान अपनी जिंदगी तबाह कर रहे है जिस कारण गांव के लोगों ने इनको बचाने के लिए अहम कदम उठाया है।

LEAVE A REPLY