ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज: अंबाला के नामी स्प्रिंगफिल्ड पब्लिक स्कूल के हॉस्टल में बच्चों से अश्लील हरकत किए जाने का मामला सामना आया है | वहीं मामले में स्कूल प्रशासन के साथ-साथ चाइल्ड लाइन पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं | स्कूल के 4 बच्चों ने हॉस्टल वॉर्डन पर अश्लील हरकत करने के आरोप लगाए और इसकी शिकायत स्कूल के प्रिंसिपल 3 सितंबर को दी थी | लेकिन कार्रवाई ना होते देख बच्चों ने चाईल्ड हेल्प लाइन को उसी दिन शिकायत दी | उन्हें भी स्कूल में पहुंचने तक 1 सप्ताह का समय लग गया | वहीं अभी तक चाइल्ड लाइन ने बच्चों की काउंसलिंग रिपोर्ट पुलिस तक नहीं पहुंचाई है | स्कूल की माने तो उन्होंने आरोपी वॉर्डन पीटर गैटली को उसी दिन हॉस्टल से निकाल दिया |

वहीं मामले की जानकारी मिलने पर महिला आयोग की टीम भी स्कूल के छात्र और छात्राओं से बात करने पहुंची, जहां लडकियों की तरफ से तो शिकायत नहीं सामने आई, लेकिन लडकों ने जो कुछ बताया वो स्कूल पर सवाल खड़े करता है | बच्चों का कहना है कि इस मामले को दबाने का दबाव उन पर बनाया गया | वहीं आरोपी वॉर्डन पीटर गैटली ने कहा था कि अगर उन्होंने शिकायत अपने परिजनों से कि तो वो उल्टा ये बोल देगा कि उन लोगों उनके साथ ऐसा किया |

स्कूल के एक बच्चे ने वॉर्डन से परेशान हो आत्महत्या तक की कोशिश की, लेकिन उसके एक साथी ने उसे ऐसा करने से रोक लिया | एक बच्चे ने बताया कि उसे भिन्डी पसंद नहीं है इसलिए उसकी पिटाई हॉकी स्टिक से की जाती है | हरियाणा महिला आयोग की सदस्य नम्रता गौड़ ने कहा कि इस मामले को लेकर अब वे बाल सरंक्षण विभाग को जल्द कार्यवाई के लिए लिखेंगी | मामले में अब अंबाला पुलिस ने आरोपी वार्डन के खिलाफ पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जाँच शुरू कर दी है

 Watch Video

LEAVE A REPLY