ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज: देश में बच्चियों के साथ हो रहे कुकर्म के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है जिसके खिलाफ कानून भी कुछ नहीं कर पा रहा है। सरकार ने बच्चियों की सुरक्षा को लेकर लाखों दावे किए है पर इसके बाद भी बच्चियों के साथ जुड़े अपराध कम नहीं हुए है। आज भारत की बेटियां पढ़ लिख कर और कई तरह के प्लेटफार्म में आगे बढ़ रहे है पर देश में कुछ ऐसे दरिंदे भी है जो बेटियों को आगे बढ़ने से रोक रहे है। ऐसा ही मामला रेवाड़ी से सामने आया है जहां पर राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित लड़की के साथ गैंगरेप किया गया।

gang rape

इस बच्ची को ना तो कोई कानून के करिंदे बचा सका और ना ही कोई एप। मिली जानकारी अनुसार ये बच्ची अपनी क्लास में जाने के लिए निकली थी जिसके बाद कुछ लोगों ने इस बच्ची को अगवा कर लिया है और फिर कोई नशीली दवाई पिलाकर उसके साथ करीब एक दर्जन दरिंदों ने उसके साथ हैवानियत की। बता दें कि अगवा कर गैंगरेप करने वाले दरिंदे नशे में थे जिस कारण उन्होने बच्ची को अपनी हैवानियत का शिकार बनाया। इसके बाद बच्ची को किसी जगह पर फेंक फरार हो गए और उन दंरिदों में से किसी ने फोन कर बच्ची के परिजनों को सुचना दी की उनकी बेटी कही पर बेसुध पड़ी हुई है।

gangrape

जब परिजन अपनी बेटी के पास पहुंचे तो उनकी आखें खुली की खुली रह गई। परिजनों ने इस मामले की जानकारी पुलिस को दी पर पुलिस ने इस मामले को एक थाने से दुसरे थाने भेज दिया पर कोई भी इस मामले की कार्रवाई नहीं कर रहा था। जिसके बाद परिजनों ने पुलिस और सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब उनकी बेटी को सम्मानित करना था तो वो उनके घर पर आए थे अब जब उनको इंसाफ चाहिए तो पुलिस उनको चक्कर लगवा रही है।

solan rape

गौरतलब है कि हरियाणा सरकार ने बेटी पढ़ाओ और बेटी बचाओ का नारा दिया पर उनके ही राज्य में हरियाणा का नाम रोशन करने वाली बच्ची के साथ दरिंदो ने हैवानियत की है। जिस कारण इस मामले के बाद सरकार के लाखों दावे और उनके द्वारा महिलायों की सुरक्षा को लेकर लान्च किए गए एप खोखले नजर आ रहे है। वहीं दूसरी तरफ इस मामले में कहा जा रहा है कि करीब एक दर्जन लोगों पर गैंगरेप करने के आरोप लगे हुए है। घंटें बीत जाने के बाद भी हरियाणा की स्मार्ट पुलिस जागी नहीं है। अब देखना होगा कि हरियाणा का नाम रोशन करने वाली इस बच्ची को इंसाफ कब मिलता है।

LEAVE A REPLY