ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज: पंजाब में नशे के खिलाफ आम लोगों की ओर से चलाई जा रही मरो या विरोध करो मुहिम के बाद भी नशे की लत के कारण युवकों के मरने का सिलसिला लगातार जारी है। नशे के चलते पंजाब में दो और युवकों की जान चली गई। हालांकि पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, लेकिन नशे रुपी इस दानव पर कब रोक लग पाएगी ? इस बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता।

DEATH BY OVER DOES

पंजाब के नवांशहर के बलाचौर निवासी 18 वर्षीय आदित्य की ओवरडोज लेने के कारण मौत हो गई। आदित्य के पिता विश्वजीत सिंह अमेरिका में रहते है और आदित्य पिछले काफी समय से नशा कर रहा था। मृतक के रिश्तेदार कुलदीप पाठक और बलाचौर के डीएसपी अनिल कुमार ने बताया कि आदित्य पिछले रविवार से अपनी मां का मोबाइल फोन और स्कूटी लेकर घर से निकला था। उसके बाद से ही उसका कुछ पता नहीं चल पाया था।

INJECTION 1

मंगलवार को बलाचौर की सब्जी मंडी के पिछले हिस्से में आदित्य का शव पड़ा हुआ मिला। उसके शव के पास नशे का इंजेक्शन और नशीले पदार्थ मिले है। डीएसपी की माने तो मौत के सही कारणों का पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही चल पाएगा। इसी तरह फिरोजपुर की सुनवा वाली बस्ती निवसी टोनी की भी नशे की ओवरडोज लने के कारण मौत हो गई। गौरतलब है कि अकेले फिरोजपुर में ही नशे की ओवरडोज के कारण पिछले एक सप्ताह में अब 6 नौजवानों की मौत हो चुकी है। इन सबके बाद भी पंजाब में नशे का कारोबार रुक नहीं रहा है। हालांकि पंजाब सरकार ने नशे के कारोबारियों के फांसी की सजा का प्रावधान रखने के लिए केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा है। अब देखना होगा कि केंद्र सरकार इस पर क्या फैसला लेती है, क्योंकि नशे के जाल में फंस चुके पंजाब के युवा लगातार एक के बाद एक मौत का शिकार हो रहे है।

 

LEAVE A REPLY