ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज: पंजाब में बढ़ते नशे के असर से अम्बाला भी अछूता नहीं रहा। पंजाब की सीमा से सटा होने की वजह से यहां के युवाओं ने इस समस्या पर चिंता व्यक्त की और रोष स्वरूप सड़कों पर उतरे। युवाओं ने नशाखोरी से आरपार की लड़ाई का ऐलान करते हुए इसे जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए पैदल मार्च निकालकर आम लोगों से भी सहयोग मांगा।

PROTEST AGAINST DRUG 1

पंजाब में बढ़ते नशे और तबाह हो रही जिंदगियों ने हुक्मरानों समेत समाज को सोचने पर मजबूर कर दिया है। पंजाब में उपजे इस नशे के कहर से पंजाब की सीमा से सटा हरियाणा का जिला अम्बाला भी अछूता नहीं रहा। इसी चिंता के मद्देनजर अम्बाला के युवा सड़कों पर उतरे और बढ़ते नशे के प्रति अपना रोष व्यक्त किया। अम्बाला कैंट के गोल चक्कर पर इक्कठा हुए ये युवा पैदल मार्च के रूप में अम्बाला के बाजारों में निकले और नशाखोरी को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए आम लोगों से भी इस लड़ाई में शामिल होने का आह्वान किया। युवाओं ने कहा कि आज अम्बाला के युवा भी भारी संख्या में नशे की गिरफ्त में जा रहे हैं। नशे ने कई लोगों की जान लेकर परिवारों की खुशियों पर ग्रहण लगा दिया है। युवाओं ने कहा कि कई गाव और गलियों में तो नशे ने बहुत ज्यादा तबाही मचा रखी है जिसे पुलिस को कंट्रोल करना चाहिए। नशे की गिरफ्त में आकर जो युवा भटक गए हैं उन्हें सही रास्ते पर लाने की भरसक कोशिश की जाएगी।

PROTEST AGAINST DRUG

नशे के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले युवाओं ने दिल को दहला देने वाली व्यथा बयान की। इन्होंने कहा कि आज छोटे छोटे बच्चे नशे की गर्त में जा रहे हैं। पंजाब से सटे होने की वजह से यहां पर नशा इस कदर हावी है कि अब इसकी चपेट में लड़कियां भी आने लगीं हैं। इस बारे में एसपी को शिकायत दी जाएगी। ये नशा कभी भी किसी भी परिवार के बच्चे को अपना निशाना बनाकर उसे तबाह कर सकता है। नशे को लेकर अब आम जनता भी जागरूक होने लगी है, लेकिन यहां सोचने की बात ये है कि नशे का सेवन करने लोग कब इससे होने वाले नकुसान से अवगत होकर उसे छोड़ने का प्रण लेंगे, जिससे वो एक आम इंसान की जिंदगी जी सके।

LEAVE A REPLY