ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया न्यूज: खेल नीति को लेकर पिछले कुछ समय से विवादों में रही हरियाणा सरकार ने अब खिलाड़ियों के लिए एक और घोषणा कर दी है। कृषि मंत्री ने अब कॉमनवेल्थ गेम या फिर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक लाने वाले खिलाड़ियों को मुर्रा भैस देने का ऐलान किया है।

murrah

पहले गाय की रक्षा, फिर गाय पालने पर जोर दिया गया, लेकिन अब तो हरियाणा सरकार भैस पालने की ओर भी बढ़ रही है। ऐसा नहीं की सरकार किसी से पूछकर उसे पालने के लिए भैस देगी, या फिर हर किसी को ये भैस दी जाएगी। यदि आप ऐसा ही कुछ सोच रहे है तो आप गलत सोच रहे है। खेल नीति को लेकर पहले से ही विवादों में घिरी हरियाणा सरकार ने अब एक बार फिर से खिलाड़ियों को लेकर नई घोषणा कर दी है। हरियाणा के कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने अब कॉमनवेल्थ गेम और अंतरराष्ट्रीय गेमों में पदक लाने वाले खिलाड़ियों को गोल्ड के साथ मुर्रा भैस देने का ऐलान किया है। कृषि मंत्री की माने तो इससे खिलाड़ियों के हौंसले और बुलंद होंगे और वे पदक लाने में जी जान लगा सकेंगे।

OP DHANKED

खेल नीति को लेकर लगातार विवादों में रहने के बाद हरियाणा के खेल मंत्री अपनी सरकार के कृषि मंत्री की खिलाड़ियों को लेकर की गई घोषणा को कैसा मानते है। इसके लिए हमने खेल मंत्री अनिल विज से बात की। विज ने भी कृषि मंत्री की बात का समर्थन करते हुए इसे इच्छी बात बताया।

ANIL VIJ

खेल नीति को लेकर पहले से ही विवादों में चल रही हरियाणा सरकार की इस नई घोषणा के बाद प्रदेश में विवाद होना तय है, लेकिन सवाल ये उठता है कि क्या खिलाड़ी को भैस देने से पहले सरकार उसकी राय लेगी या फिर दूसरे इनाम के साथ ही उसे भैस भी दे दी जाएगी ? सरकार के इस फैसले के बाद यकीनन एक बार फिर से हरियाणा की राजनीति में बवाल मच सकता है और देखने वाली बात ये होगी कि सरकार उससे कैसे निपटेगी?

 

 

LEAVE A REPLY