ऑनलाइन डेस्क/लिविंग इंडिया: नाभा जेल ब्रेक मामले के आरोपी गैंगस्टर गुरप्रीत सिंह गोपी कोड़ा का तीन दिन का रिमांड खत्म होने पर उसे मंगलवार एसआईटी ने एसीजीएम अदालत में पेश किया। एसआईटी ने आैर रिमांड मांगा था पर अदालत ने आरोपी पक्ष के वकील की दलीलों से सहमत होते गोपी कोड़ा को 14 की हिरासत में भेज दिया।

एसआईटी गोपी को सेंट्रल जेल अमृतसर लेकर रवाना हो गई। पुलिस अधिकारियों के अनुसार गोपी ने रिमांड में कबूल किया है कि उसने जेल ब्रेक की प्लानिंग को लेकर अंदर बंद गैंगस्टर विक्की गौंडर के साथ इंटरनेट कालिंग की थी और जेल ब्रेक के लिए साथी गैंगस्टरों को एकजुट करने में अहम किरदार निभाते हुए जेल ब्रेक करने वालों में संपर्क जोड़ा और वारदात के लिए हथियारों के इंतजाम में भी मदद की। जेल ब्रेक के वक्त वो खुद हमलावरों के साथ था। गैंगस्टर गोपी तरनतारन को एसआईटी ने अमृतसर में किसी वारदात की तैयारी करते दबोचा था आैर नाभा जेल ब्रेक मामले में रिमांड लिया था।

गैंगस्टर गुरप्रीत सिंह गोपी कोड़ा को 14 दिन की हिरासत

गुरप्रीत सिंह गोपी को सेंट्रल जेल अमृतसर भेजा

रिमांड में गुरप्रीत ने कबूल की जेल ब्रेक की प्लानिंग

LEAVE A REPLY