लिविंग इंडिया/ऑनलाइन डेस्क: सिखों के दसवें गुरू श्री गुरू गोबिंद सिंह जी के छोटे साहिबजादों के शहादत को लेकर  फतेहगढ़ साहिब में शहीदी जोड़ मेल के दौरान पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी को खालिस्तानी पत्रिका ‘वंगार’ के कवर पेज पर दिखा कर जोड़ मेल में सरेआम बेचा जा रहा है। कट्टरपंथी सिख संगठन के द्धारा प्रकाशित की जाती पत्रिका ‘वंगार’ में कश्मीर में मारे गए आतंकी बुरहान वानी को कश्मीर की आजादी का नायक माना है।

burhan wani

बता दे कि अगस्त 2016 में प्रकाशित पत्रिका के अंक में बुरहान वानी को कवर पेज पर जगह दी थी। हिजबुल मुजाहिदीन के मारे जाने के बाद ही इस पत्रिका का प्रकाशन हुआ था। जिसको 18 महीने के बाद अब बेचा जा रहा है। इस पत्रिका में बुरहान वानी पर दो लेख लिखे हुए है।

burhan wani

इसके इलावा आजादी पर विशेष लेख है जो बेअंत सिंह की हत्या के दोषी जगतार सिंह हवारा ने लिखा है। जो तिहाड़ जेल में है। इस पत्रिका को बेचने वाले बुक स्टॉल के संचालक का कहना है कि वो सिर्फ पत्रिका को बेच रहा है, किसी को हानि नहीं पहुंचा रहे है।

jagtar singh

 

इसके इलावा उन्होने ये भी कहा कि उनको ऐसा करने से पुलिस वालों ने भी नहीं रोका है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुरहान वानी से जुड़ी मैगजीन की बिक्री पर कहा कि अगर कुछ राष्ट्र विरोधी गतिविधि चल रही है तो पुलिस इसका निपटारा करेगी।

 

LEAVE A REPLY