न्यूज डेस्क/लिविंग इंडिया : पंजाब सरकार राजस्व बढ़ाने के नए-नए तरीके ढूंढ रही है। आपके टीवी देखने के शौक पर टैक्स लादने के बाद अब सरकार ने नया नुस्खा खोजा है। अगर आप भी कुत्ते-बिल्ली और अन्य जानवर पालने के शौकीन हैं तो आने वाले दिनों में आपको टैक्स देना होगा। बठिंडा नगर निगम ने इससे संबंधित प्रस्ताव पारित करके मंजूरी के लिए भी भेज दिया है। सरकार की हरी झंडी मिलते ही टैक्स वसूली का काम शुरू हो जाएगा।

निगम को लाइसेंस बनाने का जिम्मा

दरअसल, निकाय विभाग ने नगर निगम को 29 सितंबर को पत्र भेजकर सरकार की योजना को स्वीकृत करने का निर्देश दिया था। योजना के तहत पालतू जानवरों के लाइसेंस बनाए जाएंगे। लाइसेंस को हर साल रिन्यू करवाना जरूरी होगा। योजना के तहत कुत्ता, बिल्ली, भेड़, हिरण, बछड़ा, घोड़ा, बकरी, सूअर पालने वालों को 250 रूपये, जबकि भैंस, सांढ़, ऊंट, घोड़ा, नीलगाय, हाथी और गाय पालने वालों को 500 रूपये प्रतिवर्ष लाइसेंस फीस देना होगा।

नियम के उल्लंघन करने पर जुर्माना

आपको बता दें कि सरकार की योजना के तहत आपको हर साल अपने पालतू जानवरों का लाइसेंस रिन्यू करवाना होगा। अगर आपने लाइसेंस अवधि पूरी होने के 30 दिनों के अंदर इसे रिन्यू नहीं करवाया तो 150 से 200 रूपये तक जुर्माना लगेगा। अब पंजाब सरकार का निर्देश है तो आपको मानना ही पड़ेगा। हैरानी की बात यह है कि सरकार जिस तरह के कदम उठा रही है, उससे राजस्व बढ़े या ना बढ़े, पंजाब के लोगों पर अतिरिक्त बोझ जरूर बढ़ जाएगा।

 

 

LEAVE A REPLY