न्यूज डेस्क/लिविंग इंडिया : आपने हौसले की बात सुनी होगी। कई लोगों को देखा होगा कि किस तरह वो अपने हौसले की बदौलत उन रास्तों पर चलते हैं, जिन पर अक्सर कई लोग चलने से डर जाते हैं। नोएडा की प्रिया भार्गव भी इसी हौसले की कहानी हैं। फिलहाल प्रिया तैयारी कर रही हैं, Miss Wheelchair World 2017 में जीत दर्ज करने की। इसके पहले वो Miss Wheelchair India 2015 का खिताब अपने नाम कर चुकी हैं। Wheelchair World 2017 का आयोजन 29 सितंबर से 7 अक्टूबर तक पोलैंड में होगा। जिसमें दुनियाभर की 25 फाइनलिस्ट शामिल हो रही हैं और प्रिया को पूरी उम्मीद है कि वो जीत दर्ज करेंगी।

आसान नहीं रहा जिंदगी का सफर

लिविंग इंडिया न्यूज वेबसाइट से बातचीत के दौरान प्रिया ने बताया कि जब वो 19 साल की हुईं तो जिंदगी ने ऐसी करवट बदली, जिसका अंदाजा उन्हें कभी नहीं रहा। उन्हें Systemic Lupus Erythmatosus (SLE) या Lupus बीमारी हो गई। स्थिति गंभीर होती गई तो घरवालों ने इलाज कराना शुरू कराया। इलाज के दौरान प्रिया का शरीर कमजोर होता गया, सिर के बाल कम हो गए, वो हर दिन टूटने लगीं। प्रिया ने अपना सबकुछ खत्म मान लिया। इतना सबकुछ जिंदगी में हो गया पर प्रिया ने फैसला कर लिया, जिंदगी को फिर से जीने की और उन्होंने सारी चिंता छोड़कर जीना शुरू कर दिया।

किस्मत ने दोबारा दिखाए बुरे दिन

प्रिया बहुत खुश थी, लेकिन एकबार फिर बीमारी ने जकड़ लिया, वो कॉलेज से सीधे बिस्तर पर आ गईं। उन्हें कई सर्जरी से गुजरना पड़ा। उन्हें कई बार लगा कि जिंदगी अब खत्म हो गई। हालांकि, प्रिया ने एक बार फिर हिम्मत बांधी और बच्चों को पढ़ाने के साथ-साथ, पेंटिंग, कविता, फोटोग्राफी, गाने के शौक को पूरा करना शुरू किया। वो जिंदगी में बहुत खुश थी तभी एक बुरी खबर मिली। डॉक्टर ने बताया कि वो अब दोबारा नहीं चल सकेंगी। इस तरह एक बार फिर प्रिया की जिंदगी शिखर से शून्य पर आकर ठहर गई। यह सदमा बदार्श्त करना प्रिया के लिए आसान नहीं था।

शून्य से फिर किया जिंदगी का सफर

प्रिया के सामने बस जिंदगी भर रोने का विकल्प था, लेकिन उन्होंने उस रास्ते को चुना जिसे अधिकतर लोग नहीं चुन पाते हैं। उन्होंने पढ़ाई शुरू की, वो नहीं चाहती थी कि जिंदगी किसी पर बोझ बने। ग्रेजुएशन के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन किया। क्रॉफ्ट की प्रदर्शनी लगाई, डिजाइनर के रूप में काम शुरू किया। इसी दौरान Miss Wheelchair India में हिस्सा लिया और सफल हुईं। यहां से उन्हें एक मौका मिला जिसका उन्होंने भरपूर फायदा उठाया। अब प्रिया Wheelchair World कांटेस्ट की तैयारी कर रही हैं और उम्मीद है कि भारत की बेटी का नाम दुनिया भर में गूंजेगा।

 

LEAVE A REPLY