न्यूज डेस्क/लिविंग इंडिया : बेटियां अगर चाह लें, तो वो आसमान की ऊंचाई भी नाप सकती हैं। दरअसल, अमृतसर की उस बेटी का नाम अनुप्रीत कौर है, जिसने एक निजी एयरलाइन कंपनी में बतौर फर्स्ट फ्लाइंग ऑफिसर प्लेन उड़ा रही हैं। उसकी सफलता पर ना सिर्फ परिवार वाले खुश हैं, बल्कि अमृतसर की दूसरी बेटियों के लिए भी वो उदाहरण बनी हैं। उदाहरण इसका कि अगर हिम्मत है, हौसला है, चाहत है तो कोई भी लक्ष्य बड़ा नहीं होता।

अमृतसर के हेर गांव की रहने वाली अनुप्रीत हमेशा कुछ अलग करना चाहती थी। और आज जब वो प्लेन लेकर आकाश में उड़ती हैं तो उनका भरोसा और दूसरी लड़कियों की उम्मीदें भी उसके साथ रहती हैं। लेकिन यह सफर बड़े ही रोचक तरीके से शुरू हुआ। दरअसल, अनुप्रीत के घर के पास ही एयरपोर्ट है। बचपन में जब वो प्लेन को उतरते और उड़ते देखती थी तो वह भी पायलट बनने की सोचने लगी।

जब वो बड़ी हुई तो ठान लिया कि उसे पायलट ही बनना है। घरवालों ने उसका पूरा साथ दिया, इसके बाद शुरू हुई अनुप्रीत के सपनों की उड़ान। आखिर में अनुप्रीत ने अपने सपने को हकीकत में तब्दील कर दिया और आज वो प्लेन उड़ा रही है। लिविंग इंडिया न्यूज से बातचीत के क्रम में अनुप्रीत ने बताया कि बेटियों के लिए कुछ भी असंभव नहीं है। साथ ही वो चाहती हैं कि दूसरी बेटियां भी अपने सपने को पूरा करने में जी-जान लगा दें।

 

LEAVE A REPLY