चंडीगढ़: हाई-प्रोफाइल छेड़छाड़ मामले में भले ही पुलिस ने देर से कार्रवाई की, लेकिन अब उम्मीद है कि पुलिस इस मामले पर पड़े परदे को उठा देगी। दरअसल चंडीगढ़ जिला अदालत ने छेड़छाड़ मामले में आरोपी हरियाणा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके दोस्त आशीष को दो दिन की रिमांड पर भेज दिया। रिमांड के दौरान पुलिस 12 अगस्त तक दोनों आरोपियों से छेड़छाड़ से जुड़े मामले में पूछताछ करेगी।

आपको बता दें कि एक दिन पहले ही विकास और आशीष को गिरफ्तार किया गया था, साथ ही मामले में अपहरण की कोशिश समेत अन्य धाराएं जोड़ी गई थी। उधर पीड़ित युवती के परिवार वालों को उम्मीद है कि दोनों की गिरफ्तारी के बाद उन्हें न्याय मिल सकेगा। हालांकि इस हाई-प्रोफाइल मामले के खुलासे के साथ ही सियासी तूफान मच गया था, जिसकी चपेट में हरियाणा से लेकर पंजाब तक की दिग्गज राजनीतिक पार्टियां आ गई थीं।

इस हाई-प्रोफाइल मामले में राजनीति भी जमकर हुई। यहां तक कि पुलिस की शुरूआती जांच पर ही सवाल उठा दिए गए। कहा गया कि राजनीतिक दबाव के चलते पुलिस ने विकास और आशीष पर कई धारा नहीं लगाया। वहीं सीसीटीवी फुटेज से छेड़छाड़ के आरोप लगाए गए। जिसके बाद पुलिस ने साफ-साफ कहा कि कानून से ऊपर कोई नहीं है। बुधवार को थाने में जब आशीष और विकास पहुंचे तो पूछताछ के बाद पुलिस ने नई धाराएं लगाकर दोनों को गिरफ्तार कर लिया था। गुरूवार को दोनों को जिला अदालत में पेश किया गया और अदालत ने दो दिनों की पुलिस रिमांड पर भेज दिया।

LEAVE A REPLY